-->

पति के लिए 100+ शायरी जो उनका दिल छू लेंगी

इसलिए आज हम आपके सामने लेकर आये हैं पति के लिए शायरी जिसे आप अपने पति को भेजकर उनके चेहरे पर खुसी ला सकती हैं। Pati Ke Liye Shayari इस एक-एक शायरी को

पति के लिए शायरी

जिंदगी में हर किसी को शादी तो करनी ही पड़ती हैं फिर वह चाहे पुरूष हो या स्त्री। लेकिन शादि के बाद पुरूष का संसार उतना नहीं बदलता जितना स्त्री का बदल जाता हैं। स्त्री को अपने आप को संभालने के साथ-साथ घर को भी संभालना होता हैं जिस कारण वह अपने पति को समय नहीं दे पाती। इसलिए आज हम आपके सामने लेकर आये हैं पति के लिए शायरी जिसे आप अपने पति को भेजकर उनके चेहरे पर खुशी ला सकती हैं। Pati Ke Liye Shayari  इस एक-एक शायरी को चुन-चुन के हम आपके सामने लेकर आये हैं और आशा करते हैं की आपको ये शायरी बहुत ही ज्यादा पसंद भी आयेगी।
पति के लिए शायरी
पति के लिए शायरी

पति की तारीफ में शायरी 

पूछ लेना सुबह से या श्याम से,
ये दिल तो बस धड़कता है बस तुम्हारे ही नाम से

मुझे बस तुमसे एक वादा चाहिए,
वक़्त चाहे जैसा भी हो मुझे हर राह में तुम्हारा साथ चाहिए

तुम कहो न कहो पर ज़िन्दगी के हर सफर में,
मैं तुम्हारे साथ हुँ

अगर आपकी तस्वीर को देखने पर टैक्स लगे तो,
कुछ ही दिनों में कंगाल हो जायेंगे हम

हर दिन की शुरुवात हो मेरा प्यार मेरे साथ हो, 
आपके हाथ में मेरा हाथ हो और मेरी हर सुबह आपके साथ हो.. 

कभी - कभी आपको देख लेना ही,
सकून पाने के लिये ही काफ़ी है

मेरी हर सुबह की पेहली सोच से लेकर 
मेरी हर रात कर आखरी ख्याल हो तुम...

पति के लिए शायरी
पति के लिए शायरी

अच्छा लगता है तुम्हारे नाम के साथ मेरा नाम,
जैसे कोई सुबह जुडी हो किसी हसीं शाम के साथ...

साथ देना मेरा जिंदगी के हर मोड़ पर, 
तुम बिन मेरा सब कुछ अधूरा है…

दिल की धड़कन बनकर दिल में रहोगे तुम
जब तक है सांस मेरे ही पास रहोगे तुम...

कुछ न चाहा था कुछ कभी तुम से पहले,
अब तुम मिल गये हो तो लगता है सारी ख्वाहिशे पूरी हो गयी...

इतना प्यार तो कभी मैंने खुद से भी नहीं किया,
जितना तुमसे कर बैठे है हम...

इंतज़ार तो बस वही कर सकता है,
जिसकी मोहब्बत सच्ची हो...

रखना ख्याल अब उम्र भर मेरा उम्र भर के लिये,
लो मैंने अब खुद को तुम्हारी अमानत कर दिया...

माना की हम कभी - कभी तकरार करते है,
पर ये भी सच है हम आपको खुद से ज्यादा प्यार करते हैं...

कैसे करें बया सादगी उनकी,
पर्दा भी हम ही से है ओर नज़र भी हम ही पर है

पति के लिए शायरी
पति के लिए शायरी

जो बीत गया अब न वो दौर आयेगा,
इस दिल में तेरे सिवा कोई और न आयेगा

अगर हम जान पाये की प्यार क्या है,
तो उसकी वजह हो सिर्फ तुम

तुम्हारी इक मुस्कान से बदल गयी ये तबियत मेरी,
बताओ तो ज़रा तुम इश्क़ करते हो या इलाज़ करते हो

चाहत नहीं मुझे खूबसूरत जिंदगी जीने की,
बल्कि जब तक तुम साथ हो तुम मेरे तब - तक ही चाहिए ये जिंदगी मुझे

अब और कुछ ज्यादा खुदा से चाहिए नहीं मुझे,
आप मिले ज़िन्दगी जीने की वजह मिली है मुझे

जब तुम साथ हो हर मुश्किल लम्हा भी आसान लगता है,
जब तुम साथ हो तो हर पल खास लगता है,
तुम - बिन हर एक लम्हा भी दुश्वार लगता है

मत पूछो की कितनी मोहब्बत है तुमसे ऐ बेखबर,
बारिश की बुँदे भी छू ले तुम्हें,
तो हम बदलो से भी जलने लगते हैं

हमेशा एक फिकर सी रहती है,
जब मोहब्बत,
किसी से हद से ज्यादा होती है...

कभी - कभी किसी शख्स से, 
ऐसा रिश्ता बन जाता है,
की हर समय सिर्फ उसी का ख्याल आता है…

पति के लिए शायरी
पति के लिए शायरी

मेरा आज मेरा कल हो आप,
मेरी हाथों की मेहँदी हाथों की लकीर हैं आप, 
हर पल हमको आपका ही रहता है ख्याल, 
कुछ इतना सा करीब हो दिल के आप…

आँखों से जाती नहीं अब तस्वीर तुम्हारी,
न जाती इस दिल से मोहब्बत तुम्हारी, 
तुम्हारे दूर जाने से एहसास होता है, 
की अब दिल को पहले से जयादा जरुरत है तुम्हारी... 

मिलते न अगर तुम मुझको,
तो मेरी खुशियों के सारे रंग अधूरे रह जाते,
ज़िंदगी के सफ़र में,
मेरे सारे ख़्वाब ही अधूरे रह जाते…

ज़िन्दगी तुम्हारे बिना अब कटती नहीं है,
याद तुम्हारी अब दिल से मिटती नहीं है, 
बसे हो आँखों में तुम मेरी, 
आँखों से तस्वीर तुम्हारी हटती नहीं है...

एक दूसरे से लड़ाई हो तो, 
मना भी लिया करो,
कहीं वो तो कहीं तुम रिश्ते, 
निभा लिया करो...

खुशबू बनकर तेरी सांसो में बस जायेंगे, 
सुकून बनकर तेरे दिल में उतर जायेंगे, 
महसूस करने की कोशिश तो कीजिये, 
दूर रहते हुए भी हम पास ही नज़र आएँगे...

ज़िन्दगी के हर मोड़ हर सफ़र पर, 
मेरे हाथों में तुम्हारा हाथ रहे,
सिर्फ़ इस जन्म ही नहीं,
सातो जन्म तुम्हारा साथ रहे …

कोई रूठे तो उसे मनाना सीखो,
कोई छंटे तो उसे साथ लाना सीखो,
रिश्ते तो मुकदर से मिलते हैं, 
बस उन्हें निभाना सीखो...

तुम्हे चाहते है बेइन्तेहाँ पर हमें जताना नहीं आता, 
ये कैसी मोहब्बत है हमें कहना नहीं आता, 
ज़िन्दगी में आजाओ हमारी ज़िन्दगी बनकर, 
क्यूंकि तुम बिन हमें जीना नहीं आता…

तेरी खुशी से नहीं हर गम से भी रिश्ता है मेरा,
तू ज़िंदगी का अब अनमोल हिस्सा है मेरा,
मेरी मोहब्बत सिर्फ़ लफ़ज़ो की मोहताज़ नहीं,
तेरी रूह से रूह का रिश्ता है मेरा...

सब मिल गया है तुमको पाकर,
हमारा हर गम मिट गया है तुमको पाकर,
सवर गई है जिन्दगी हमारी हर लम्हे के साथ,
आपको अपनी जिन्दगी का हिस्सा बनाकर...

न चाँद की है चाहत,
न है तारों की फरमाइश, 
हर जन्म में मिलो तुम, 
बस इतनी ही है ख्वाहिश…

ये ज़िंदगी चाहे, 
कितने पल के लिए ही मिले, 
बस यही दुआ है, 
साथ तुम्हारा ही मिले...

अगर कभी तुम नाराज़ हो,
तो हम झुक जायेंगे,
अगर कभी हम नाराज़ हुए,
तो तुम अपने सीने से लगा लेना... 

पति के लिए शायरी
पति के लिए शायरी

सुना था शादी के बाद,
जिंदगी बहोत खूबसूरत हो जाती है, 
खूबसूरत तो बहोत छोटा शब्द है, 
क्योंकि मेरी तो जन्नत बन गई है...

आता नहीं था हमें इकरार करना, 
न जाने कैसे सीख गए प्यार करना, 
रुकते नहीं थे कभी एक पल किसी के लिए, 
न जाने कैसे सीख गए इंतज़ार करना...  

जुदाई सहने की आदत नहीं है,
तुम बिन रहने की चाहत नहीं है, 
चाहत है तुम संग जीने की,
तुम बिन जीने की कोई ख्वाहिश नहीं है…

न सवाल बनके मिला करो,
न जवाब बनके मिला करो,
मेरी ज़िन्दगी मेरा ख्वाब है, 
मुझे ख्वाब बनके मिला करो...

मेरी हर ख़ुशी हर बात तुम्हारी है,
सांसों में छुपी हर साँस तुम्हारी है,
दो पल भी नहीं रह सकते तुम बिन, 
धड़कनो की धड़कती हर आवाज़ तुम्हारी है... 

प्यार के लिए दिल,
दिल के लिए आप,
आपके लिए हम,
ओर हमारे लिए आप...

प्यार कितना है इस दिल में,
कभी केह नहीं पाते हम,
पर ये भी सच है मेरी जान,
की तुम बिन अब रह भी नहीं पाते हम.

बस यूँही मुस्कुराते रहें आप,
खुशियाँ मिलती रहे सारे जग से,
हमेशा मिले दुनिया का साथ, 
दुआ मिले रब से मिलता रहेगा,
आपको यूँही अपनो का प्यार...

ये भी पढ़ें

तो दोस्तों पति के लिए शायरी आपको कैसी लगी हमें जरूर बताएं। और  इस तरह की शायरी भेजकर आप अपने पति का दिल जीत सकतीं हैं। यदि ऐसी ही अच्छी शायरी यदि आप और पढ़ना चाहते हैं तो आप एक बार फिरे से Palamwale.in विजिट करना न भूलें।